@bazmofficial @shayari अपने वादों – यादों को, लेकर जाओ ; ‘दीप’ के सफ़र को, अब आस

[ad_1]

@bazmofficial @shayari अपने वादों – यादों को, लेकर जाओ ;
‘दीप’ के सफ़र को, अब आसान करो !!
#दीप ✍️

#बज़्म #अक्षरमाला #शायरी
#alfazmere #Shayari #आसान
[ad_2]

Source by अनिल त्रिपाठी #दीप #३ह #बज़्म

Leave a Reply