You are currently viewing वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर,
आदत इस की भी आदमी सी है!!
• गुलज़ार 

#SahityikKala
-रहता-नहीं-कहीं-टिक-कर-आदत-इस-की-भी

वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर, आदत इस की भी आदमी सी है!! • गुलज़ार #SahityikKala

[ad_1]

वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर,
आदत इस की भी आदमी सी है!!
• गुलज़ार

#SahityikKala #Gulzar #Gulzariyat
@Gulzariyat15 @meghnagulzar @ShayariGulzar @gulzar_shayari https://t.co/Wh0LZ8wSbf
[ad_2]

Source by SahityikKala