लाखों बलात्कार आराम से सहन करने वाला समाज , प्रेम विवाह को बर्दाश्त नहीं कर सकता

[ad_1]

लाखों बलात्कार आराम से सहन करने वाला समाज ,
प्रेम विवाह को बर्दाश्त नहीं कर सकता ..!!

@JaunSee @mithelesh @Mahanaatma1 @shayari @Rekhta @____abhi____ #जिंदगी_गुलज़ार_है
[ad_2]

Source by abhi

Leave a Reply