ये वफ़ा तो उन दिनों की बात है। जब लोग सच्चे और मकान कच्चे हुआ करते थे। @shayari

[ad_1]

ये वफ़ा तो उन दिनों की बात है।

जब लोग सच्चे और मकान कच्चे हुआ करते थे।
@shayari
[ad_2]

Source by RG

Leave a Reply