मोहब्बत है या नशा था जो भी था कमाल का था रूह तक उतारते उतारते जिस्म को खोखला कर

मोहब्बत है या नशा था जो भी था कमाल का था
रूह तक उतारते उतारते जिस्म को खोखला कर गया😭

#shayari #Shayariquotes #shayar #Sad
मोहब्बत है या नशा था जो भी था कमाल का था
रूह तक उतारते उतारते जिस्म को खोखला कर

मोहब्बत है या नशा था जो भी था कमाल का था
रूह तक उतारते उतारते जिस्म को खोखला कर गया😭

#shayari #Shayariquotes #shayar #Sad
#महबबत #ह #य #नश #थ #ज #भ #थ #कमल #क #थरह #तक #उतरत #उतरत #जसम #क #खखल #कर

Twitter shayarish by Amit Singh Baghel

Leave a Reply