मैं शायर बन गया बिछड़कर तुझसे तू ग़ज़ल बन गया मिलकर किसी और से सुन कितना दर्द है

[ad_1]

मैं शायर बन गया बिछड़कर तुझसे
तू ग़ज़ल बन गया मिलकर किसी और से
सुन कितना दर्द है शायरी में मेरी
और एक तू है की मुस्कुरा रहा है ग़ज़ल अपने नए आशिक की सुनके

Ranjeet Singh
#shayari #Shayariquotes #thoughts
[ad_2]

Source by Ranjeet Singh (رنجیت سنگھ)