You are currently viewing मुझे वो अपना समझने की भूल क्यों न करे
मैं उसे ग़ैर की नज़रों से देखता ही नहीं

–
-वो-अपना-समझने-की-भूल-क्यों-न-करे-मैं

मुझे वो अपना समझने की भूल क्यों न करे मैं उसे ग़ैर की नज़रों से देखता ही नहीं –

[ad_1]

मुझे वो अपना समझने की भूल क्यों न करे
मैं उसे ग़ैर की नज़रों से देखता ही नहीं

– तर्कश प्रदीप @tarkashpradeep

#shayari #shayariquotes/">quotes #urdupoetry #urdu #urduquotes https://t.co/L3DpnTdw1m
[ad_2]

Source by Yaadon Ka Safar

Leave a Reply