मंजिल तो मिल ही जाएगी, भटक कर ही सही, गुमराह तो ओ है, जो घर से निकले ही नही।

[ad_1]

मंजिल तो मिल ही जाएगी,
भटक कर ही सही,
गुमराह तो ओ है,
जो घर से निकले ही नही।
🤘✨ 💯🌠😎
#Gulzar @Gulzar_sahab @valand_rakesh @M2Succeed @shayari
[ad_2]

Source by Suhas Surwase