You are currently viewing ना मैं सरकार हूं,
ना मैं हर सुबह तुम्हारे घर आने वाला,,
अखबार हूं,,,
अपना लो मुझ
-मैं-सरकार-हूं-ना-मैं-हर-सुबह-तुम्हारे-घर

ना मैं सरकार हूं, ना मैं हर सुबह तुम्हारे घर आने वाला,, अखबार हूं,,, अपना लो मुझ

ना मैं सरकार हूं,
ना मैं हर सुबह तुम्हारे घर आने वाला,,
अखबार हूं,,,
अपना लो मुझे,,,,
मैं सिर्फ तुम्हारे लिए ही बना हूं,,,,,
मैं ही तुम्हारा प्यार हूं!!
#uniquejigrra #writer #love #sad #story #myquote #shayari #poetry https://t.co/gaKqHwRfcw
ना मैं सरकार हूं,
ना मैं हर सुबह तुम्हारे घर आने वाला,,
अखबार हूं,,,
अपना लो मुझ

ना मैं सरकार हूं,
ना मैं हर सुबह तुम्हारे घर आने वाला,,
अखबार हूं,,,
अपना लो मुझे,,,,
मैं सिर्फ तुम्हारे लिए ही बना हूं,,,,,
मैं ही तुम्हारा प्यार हूं!!
#uniquejigrra #writer #love #sad #story #myquote #shayari #poetry https://t.co/gaKqHwRfcw
#न #म #सरकर #हन #म #हर #सबह #तमहर #घर #आन #वलअखबर #हअपन #ल #मझ

Twitter shayarish by Jigar Rathod