तेरे जलवों ने फुर्सत ही नहीं दी; मैं जादू-ए-ज़माना देखता क्या। -अज्ञात- Y

[ad_1]

तेरे जलवों ने फुर्सत ही नहीं दी;
मैं जादू-ए-ज़माना देखता क्या।
-अज्ञात-
Your beauty kept me so engaged, that I had no time to see the magical world.
#poetry #shayari #beauty #hindipoetry #World #शायरी
[ad_2]

Source by thinkhike