You are currently viewing चाँद मिलता न राह में उस रोज
इश्क़ का हादसा नहीं होता

पूछते रहते हाल-चाल अगर
फ़ा
-मिलता-न-राह-में-उस-रोज-इश्क़-का-हादसा

चाँद मिलता न राह में उस रोज इश्क़ का हादसा नहीं होता पूछते रहते हाल-चाल अगर फ़ा

[ad_1]

चाँद मिलता न राह में उस रोज
इश्क़ का हादसा नहीं होता

पूछते रहते हाल-चाल अगर
फ़ासला यूं बढ़ा नहीं होता

~ गौतम राजऋषि
(पाल ले इक रोग नादाँ)

#गौतम_की_शायरी #UrduShayari #HindiShayari #Prem #Ishq #Shayari #Ghazal #GautamRajrishi #Love #UrduPoetry https://t.co/2LIACBuBPb
[ad_2]

Source by गौतम की कलम से