You are currently viewing कुछ भूली बिसरी याद आँखों में जगमगा जाती है,
तेरी नमकीन हँसी कानों में यूँ  कुछ क
कुछ-भूली-बिसरी-याद-आँखों-में-जगमगा-जाती-है-तेरी

कुछ भूली बिसरी याद आँखों में जगमगा जाती है, तेरी नमकीन हँसी कानों में यूँ कुछ क

कुछ भूली बिसरी याद आँखों में जगमगा जाती है,
तेरी नमकीन हँसी कानों में यूँ कुछ कह जाती है!
#Creative #yoga #shayari #lossless #GodMorningTuesday #author #Affection #iam #poets #loveit #poetrytwitter #poetry #lyrics #TwitterIndiaRaid #poetrylovers #quote #writing #Corona https://t.co/satyy6jPKc
कुछ भूली बिसरी याद आँखों में जगमगा जाती है,
तेरी नमकीन हँसी कानों में यूँ कुछ क

कुछ भूली बिसरी याद आँखों में जगमगा जाती है,
तेरी नमकीन हँसी कानों में यूँ कुछ कह जाती है!
#Creative #yoga #shayari #lossless #GodMorningTuesday #author #Affection #iam #poets #loveit #poetrytwitter #poetry #lyrics #TwitterIndiaRaid #poetrylovers #quote #writing #Corona https://t.co/satyy6jPKc
#कछ #भल #बसर #यद #आख #म #जगमग #जत #हतर #नमकन #हस #कन #म #य #कछ #क

Twitter shayarish by kaajal

Leave a Reply