You are currently viewing किसी रोज़ हम ये तमाशा करेंगे
तुझे चूम कर ख़ुद को रुसवा करेंगे

बदन जो हमारा पुका
-रोज़-हम-ये-तमाशा-करेंगे-तुझे-चूम-कर-ख़ुद

किसी रोज़ हम ये तमाशा करेंगे तुझे चूम कर ख़ुद को रुसवा करेंगे बदन जो हमारा पुका

[ad_1]

किसी रोज़ हम ये तमाशा करेंगे
तुझे चूम कर ख़ुद को रुसवा करेंगे

बदन जो हमारा पुकारेगा तुझको
तेरे जिस्म के गीत गाया करेंगे

~ गौतम राजऋषि

#गौतम_की_शायरी #UrduShayari #HindiShayari #Prem #Ishq #Shayari #Ghazal #GautamRajrishi #UrduShayari #Love #PromiseDay https://t.co/HdkQIAgWzf
[ad_2]

Source by गौतम की कलम से

Leave a Reply