इक शख़्स तेरी बज़्म से ख़ामोश उठ गया, शायद ये बात तेरे लिए सोचने की थी… #Shaya

[ad_1]

इक शख़्स तेरी बज़्म से ख़ामोश उठ गया,
शायद ये बात तेरे लिए सोचने की थी…
#Shayari
#बज्म https://t.co/r8y8pPCanm
[ad_2]

Source by Baaghi®️