अज़ीज़ इतना ही रक्खो कि जी सँभल जाए अब इस क़दर भी न चाहो कि दम निकल जाए #shaya

[ad_1]

अज़ीज़ इतना ही रक्खो कि जी सँभल जाए
अब इस क़दर भी न चाहो कि दम निकल जाए 🥰

#shayari #Shayariquotes/">quotes #shayri #ShayriTwitter #Jaipur
[ad_2]

Source by Manisha Choudhary

Leave a Reply