You are currently viewing नरक चतुर्दशी कथा |Narak Chaturdashi Katha | Rup Chaudas Katha | Choti Diwali Katha in hindi
-चतुर्दशी-कथा-Narak-Chaturdashi-Katha-Rup-Chaudas-Katha

नरक चतुर्दशी कथा |Narak Chaturdashi Katha | Rup Chaudas Katha | Choti Diwali Katha in hindi



नरक चतुर्दशी कथा |Narak Chaturdashi Katha | Rup Chaudas Katha | Choti Diwali Katha

धनतेरस के दूसरे दिन नरक चतुर्दशी व रूप चौदस का दिन भी माना जाता है। इस दिन रूप और सौंदर्य प्रदान करने वाले देवता श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा की जाती है, क्योंकि इसी दिन भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर नामक राक्षस का वध करके और बरासुर के द्वारा बंदी बनाई गई सौलह हजार एक सौ आठ कन्याओं को उस राक्षस की कैद से मुक्त किया था।
ऐसी मान्यता भी है कि इस दिन भगवान कृष्ण ने राक्षस नरकासुर का वध करके धरती पर से गन्दगी साफ की थी, इसलिए लोग इस दिन अपने घर की साफ-सफाई जरूर करते है।
इसे नरक निवारण चतुर्दशी कहा जाता हैं इसके पीछे एक पौराणिक कथा हैं जो इस प्रकार हैं :
एक प्रतापी राजा थे जिनका नाम रन्ति देव था | स्वभाव से बहुत ही शांत एवम पुण्य आत्मा, इन्होने कभी भी गलती से भी किसी का अहित नहीं किया | इनकी मृत्यु का समय आया यम दूत इनके पास आये | तब इन्हें पता चला कि इन्हें मोक्ष नहीं बल्कि नरक मिला हैं | तब उन्होंने पूछा कि जब मैंने कोई पाप नहीं किया तो मुझे नरक क्यूँ भोगना पड़ रहा हैं | उन्होंने यमदूतों से इसका कारण पूछा तब उन्होंने बताया एक बार अज्ञानवश आपके द्वार से एक ब्राह्मण भूखा चला गया था | उसी के कारण आपका नरक योग हैं | तब राजा रन्ति से हाथ जोड़कर यमराज से कुछ समय देने को कहा ताकि वे अपनी करनी सुधार सके | उनके अच्छे आचरण के कारण उन्हें यह मौका दिया गया | तब राजा रन्ति ने अपने गुरु से सारी बात कही और उपाय बताने का आग्रह किया | तब गुरु ने उन्हें सलाह दी कि वे हजार ब्राह्मणों को भोज कराये और उनसे क्षमा मांगे | रन्ति देव ने यही किया | उनके कार्य से सभी ब्राह्मण प्रसन्न हुए और उनके आशीर्वाद के फल से रन्ति देव को मोक्ष मिला | वह दिन कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की चौदस का था इसलिए इस दिन को नरक निवारण चतुर्दशी (Narak Chaturdashi) कहा जाता हैं |
नरक चतुर्दशी कथा |Narak Chaturdashi Katha | Rup Chaudas Katha | Choti Diwali Katha in hindi
#नरक #चतरदश #कथ #Narak #Chaturdashi #Katha #Rup #Chaudas #Katha #Choti #Diwali #Katha #hindi

Youtube Channel

Leave a Reply