पुरानी होकर भी खास होती जा रही है, मोहब्बत बेशर्म है जनाब बेहिसाब होती जा रही है

पुरानी होकर भी खास होती जा रही है, मोहब्बत बेशर्म…

Continue Readingपुरानी होकर भी खास होती जा रही है, मोहब्बत बेशर्म है जनाब बेहिसाब होती जा रही है

बेशक तुम्हें गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर पर गुस्से में ये मत भूल जाना कि हम तु

बेशक तुम्हें गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर पर…

Continue Readingबेशक तुम्हें गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर पर गुस्से में ये मत भूल जाना कि हम तु