रुख़ परी चश्म परी ज़ुल्फ़ परी आन परी-ग़ज़लें-नज़ीर अकबराबादी-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Nazeer Akbarabadi

रुख़ परी चश्म परी ज़ुल्फ़ परी आन परी-ग़ज़लें-नज़ीर अकबराबादी-Hindi Poetry-हिंदी कविता -Hindi Poem | Hindi Kavita Nazeer Akbarabadi रुख़ परी, चश्म परी, ज़ुल्फ़ परी, आन परी कयों न अब नामे-ख़ुदा हो तेरे कुरबान परी झुमके झुमके वो सुरैया के करनफूल, वो फूल बुन्दे बाले परी, मोती परी और कान परी हुस्न गुलज़ार कमर शक्ल सुराही …

Read more