khuda par bharosa shayari

khuda par bharosa shayari

ऐ दिल न अक़ीदा है दवा पर न दुआ पर
कम-बख़्त तुझे छोड़ दिया हम ने ख़ुदा पर
~सफ़ी औरंगाबादी

Leave a Reply