Kanha Kamboj Shayari Love shayari poem in 2020

Kanha Kamboj Shayari Love shayari poem in 2020

खामोशी का अपना मजा है, लब्ज कोई बहरा नही देखा जाता
तेरी आँखों पर काजल की गिरफ्त तो ठीक थी,ये आंसुओ का पहरा नही देखा जाता
अपने हिस्से की खुशियां लुटा दु में तुझपर
तेरा उतरा हुआ चेहरा नही देखा जाता

Leave a Reply