Kanha Kamboj Kanha Kamboj Shayari

Kanha Kamboj Kanha Kamboj Shayari

वक्त जाया न कर मेरे किरदार को पहचानने में
तू खुद एक कहानी बन जाएगा मेरी हकीकत जानने में
चल दिये बेपरवाह गहराई मेरी जानने की
इतना गहरा हु की जमाना निकल जायेगा मेरी गहराई नापने में