मोहब्बत का इशारा याद रहता है, mohabbat shayari

मोहब्बत का इशारा याद रहता है,
हर प्यार को अपना प्यार याद रहता है,
दो पल जो प्यार की बाहों में गुज़रे हों,
मौत तक वो नज़ारा याद रहता है।

Mohabbat Ka Ishara Yaad Rahta Hai,
Har Pyar Ko Apna Pyar Yaad Rahta Hai,
Do Pal Jo Pyar Ki Bahon Me Gujre Hon,
Maut Tak Wo Najara Yaad Rahta Hai.

Leave a Reply