हम राम जी के, राम जी हमारे हैं वो तो दशरथ राज दुलारे हैं

हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं

मेरे नयनो के तारे हैं
सारे जग के रखवारे हैं

मेरे तो ्राण अधारे हैं
सब भगतन के रखवारे हैं

जो लाखो पापीओं को तारे हैं
जो अघमन को उधारे हैं

हम इनके सदा सहारे हैं
हम उनकी शरण पधारे हैं

गणिका और गीध उधारे हैं

hum ram ji ke ram ji hamare hain

ham ram ji ke, ram ji hamaare hain
vo to dsharth raaj dulaare hain

mere nayano ke taare hain
saare jag ke rkhavaare hain

mere to praan adhaare hain
sab bhagatan ke rkhavaare hain

jo laakho paapeeon ko taare hain
jo aghaman ko udhaare hain

ham inake sada sahaare hain
ham unaki sharan pdhaare hain

ganika aur geedh udhaare hain
ham khade unhi ke dvaare hain

ham ram ji ke, ram ji hamaare hain
vo to dsharth raaj dulaare hain

 

Leave a Comment