You are currently viewing Mirza Ghalib Biography in Hindi | मिर्ज़ा ग़ालिब की दर्द भरी शायरी  | TSNPlay
Mirza-Ghalib-Biography-in-Hindi-मिर्ज़ा-ग़ालिब-की-दर्द

Mirza Ghalib Biography in Hindi | मिर्ज़ा ग़ालिब की दर्द भरी शायरी | TSNPlay



मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिब” (२७ दिसंबर १७९६ – १५ फरवरी १८६९) उर्दू एवं फ़ारसी भाषा के महान शायर थे।
ग़ालिब का जन्म आगरा मे एक सैनिक पृष्ठभूमि वाले परिवार में हुआ था। उन्होने अपने पिता और चाचा को बचपन मे ही खो दिया था, ग़ालिब का जीवनयापन मूलत: अपने चाचा के मरणोपरांत मिलने वाले पेंशन से होता था.

ग़ालिब की मुगल दरबार में बहुत इज्जत थी और वो उन पर व्यग्य करने वालो पर शायरी लिख दिया करते थे | उनकी 15 फरवरी 1869 को दिल्ली में मौत हो गयी | ग़ालिब पुरानी दिल्ली के जिस मकान में रहते थे उसको ग़ालिब की हवेली कहा जाने लगा और बाद में उसे एक स्मारक में तब्दील कर दिया गया |ग़ालिब की कब्र दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में निजामुद्दीन ओलिया के नजदीक बनाई गयी.

“हैं और भी दुनिया में सुख़न्वर बहुत अच्छे
कहते हैं कि ग़ालिब का है अन्दाज़-ए बयां और”

गैर ले महफ़िल में बोसे जाम के
हम रहें यूँ तश्ना-ऐ-लब पैगाम के
खत लिखेंगे गरचे मतलब कुछ न हो
हम तो आशिक़ हैं तुम्हारे नाम के
इश्क़ ने “ग़ालिब” निकम्मा कर दिया
वरना हम भी आदमी थे काम के.

Mirza Ghalib was a famous Urdu and Persian poet of the Indian subcontinent in the 19th century. His original name was Mirza Asadullah Baig Khan. Great described by Khobaib Ahmad in this video, Mirza Ghalib married at the age of thirteen (around 1810) into an aristocratic family. Mirza Ghalib had seven children, but none of them survived. This pain is clearly visible in his ghazals.#MirzaGhalibBiography #TSNPLAY #UrduPoetry

For More Love Shayari Click On Below Link:
https://www.tsnplay.com/image-poetry/34/best-101-shayari-in-2020-shayari-love-shayari-heart-touching-love-shayari-in-hindi

You can follow us:
https://www.facebook.com/TSNplay

https://www.instagram.com/tsnplay/
https://www.youtube.com/c/tsnplay/
Mirza Ghalib Biography in Hindi | मिर्ज़ा ग़ालिब की दर्द भरी शायरी | TSNPlay
मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिब” (२७ दिसंबर १७९६ – १५ फरवरी १८६९) उर्दू एवं फ़ारसी भाषा के महान शायर थे।
ग़ालिब का जन्म आगरा मे एक सैनिक पृष्ठभूमि वाले परिवार में हुआ था। उन्होने अपने पिता और चाचा को बचपन मे ही खो दिया था, ग़ालिब का जीवनयापन मूलत: अपने चाचा के मरणोपरांत मिलने वाले पेंशन से होता था.

ग़ालिब की मुगल दरबार में बहुत इज्जत थी और वो उन पर व्यग्य करने वालो पर शायरी लिख दिया करते थे | उनकी 15 फरवरी 1869 को दिल्ली में मौत हो गयी | ग़ालिब पुरानी दिल्ली के जिस मकान में रहते थे उसको ग़ालिब की हवेली कहा जाने लगा और बाद में उसे एक स्मारक में तब्दील कर दिया गया |ग़ालिब की कब्र दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में निजामुद्दीन ओलिया के नजदीक बनाई गयी.

“हैं और भी दुनिया में सुख़न्वर बहुत अच्छे
कहते हैं कि ग़ालिब का है अन्दाज़-ए बयां और”

गैर ले महफ़िल में बोसे जाम के
हम रहें यूँ तश्ना-ऐ-लब पैगाम के
खत लिखेंगे गरचे मतलब कुछ न हो
हम तो आशिक़ हैं तुम्हारे नाम के
इश्क़ ने “ग़ालिब” निकम्मा कर दिया
वरना हम भी आदमी थे काम के.

Mirza Ghalib was a famous Urdu and Persian poet of the Indian subcontinent in the 19th century. His original name was Mirza Asadullah Baig Khan. Great described by Khobaib Ahmad in this video, Mirza Ghalib married at the age of thirteen (around 1810) into an aristocratic family. Mirza Ghalib had seven children, but none of them survived. This pain is clearly visible in his ghazals.#MirzaGhalibBiography #TSNPLAY #UrduPoetry

For More Love Shayari Click On Below Link:
https://www.tsnplay.com/image-poetry/34/best-101-shayari-in-2020-shayari-love-shayari-heart-touching-love-shayari-in-hindi

You can follow us:
https://www.facebook.com/TSNplay

https://www.instagram.com/tsnplay/
https://www.youtube.com/c/tsnplay/
#Mirza #Ghalib #Biography #Hindi #मरज़ #ग़लब #क #दरद #भर #शयर #TSNPlay

Youtube

Leave a Reply