You are currently viewing सच्चाई का ज़माना नहीं है | BEST MOTIVATIONAL SHAYARI NEW LIFE | नयी जिंदगी
सच्चाई-का-ज़माना-नहीं-है-BEST-MOTIVATIONAL-SHAYARI-NEW

सच्चाई का ज़माना नहीं है | BEST MOTIVATIONAL SHAYARI NEW LIFE | नयी जिंदगी



जूठा प्यार जूठी बातें – जूठ के सिवा कुछ जाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
हर बात में तेरी मेरी – हर काम में हेरा फेरी
इमानदारी से किसी को कमाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
यहां प्यार बाज़ार में बिकता है
दिल का दिलदार न दिखता है
सच्चे प्यार का मतलब किसी ने जाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है।
कसमें भी जूठी खाते हैं – जूठे वादे भी किए जाते हैं।
लेकिन कसमें वादे किसी को निभाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।
जूठी हसीं जूठी मुस्कान – जूठे आंसू भी बहाए जाते हैं।
सच्चाई को चेहरे पे किसी को लाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।
तब दर्द बहुत ही होता है।
दिल बार बार ये रोता है।
जब धोखा हमको भी मिलता है
और कोई हमसे भी ये कहता है
क्या करे साहब,
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
सच्चाई की ताकत को हमने कभी जाना नहीं है
सच ही जीतता है हमेशा – इस बात को हमने क्यूँ माना नहीं है।
फिर क्यूँ कहते हो ये
की आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
जहां सच है वहां प्यार है, जहाँ सच है वहाँ ऐतबार है।
सच ही मंदिर सच ही भगवान्-
सच की ताकत को हमने अभी पहचाना नहीं है
कब बदलोगे इस सोच को तुम
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।

Music Credit : whitesand
Title : emotional dramatic music
Link : https://youtu.be/3E76BJSq6NQ
Don’t Forget to subscribe this amazing music channel
सच्चाई का ज़माना नहीं है | BEST MOTIVATIONAL SHAYARI NEW LIFE | नयी जिंदगी
जूठा प्यार जूठी बातें – जूठ के सिवा कुछ जाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
हर बात में तेरी मेरी – हर काम में हेरा फेरी
इमानदारी से किसी को कमाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
यहां प्यार बाज़ार में बिकता है
दिल का दिलदार न दिखता है
सच्चे प्यार का मतलब किसी ने जाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है।
कसमें भी जूठी खाते हैं – जूठे वादे भी किए जाते हैं।
लेकिन कसमें वादे किसी को निभाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।
जूठी हसीं जूठी मुस्कान – जूठे आंसू भी बहाए जाते हैं।
सच्चाई को चेहरे पे किसी को लाना नहीं है
क्यूंकि लोग कहते हैं कि साहब
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।
तब दर्द बहुत ही होता है।
दिल बार बार ये रोता है।
जब धोखा हमको भी मिलता है
और कोई हमसे भी ये कहता है
क्या करे साहब,
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
सच्चाई की ताकत को हमने कभी जाना नहीं है
सच ही जीतता है हमेशा – इस बात को हमने क्यूँ माना नहीं है।
फिर क्यूँ कहते हो ये
की आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है
जहां सच है वहां प्यार है, जहाँ सच है वहाँ ऐतबार है।
सच ही मंदिर सच ही भगवान्-
सच की ताकत को हमने अभी पहचाना नहीं है
कब बदलोगे इस सोच को तुम
आज कल सच्चाई का जमाना नहीं है ।

Music Credit : whitesand
Title : emotional dramatic music
Link : https://youtu.be/3E76BJSq6NQ
Don’t Forget to subscribe this amazing music channel
#सचचई #क #जमन #नह #ह #MOTIVATIONAL #SHAYARI #LIFE #नय #जदग

Youtube

Leave a Reply