You are currently viewing मैं भूल जाऊं तुम्हें अब यही मुनासिब है – Poetry Hub
मैं-भूल-जाऊं-तुम्हें-अब-यही-मुनासिब-है-Poetry

मैं भूल जाऊं तुम्हें अब यही मुनासिब है – Poetry Hub


#म #भल #जऊ #तमह #अब #यह #मनसब #ह #Poetry #Hub
मैं भूल जाऊं तुम्हें अब यही मुनासिब है – Poetry Hub

मैं भूल जाऊं तुम्हें अब यही मुनासिब है

मैं भूल जाऊं तुम्हें अब यही मुनासिब है – Poetry Hub
#म #भल #जऊ #तमह #अब #यह #मनसब #ह #Poetry #Hub

Image by ankeetv