khuda tujhe shayari

khuda tujhe shayari

फ़लसफ़ी को बहस के अंदर ख़ुदा मिलता नहीं
डोर को सुलझा रहा है और सिरा मिलता नहीं
~Akbar

Leave a Reply