khuda rab shayari

khuda rab shayari | Allah shayari |

अल्लाह रे नाज़ुकी, ये चमेली का एक फूल
सर पर जो रख दिया, तो कमर तक लचक गयी

Leave a Reply