@supriya29586344 रात तन्हा, दर्द, आँसू, शायरी, हिज़्र है बेचारगी है बेबसी, सर्द…

@supriya29586344 रात तन्हा, दर्द, आँसू, शायरी, हिज़्र है बेचारगी है बेबसी,

सर्द आहों से भरी बेचैनियाँ कट रही यूँ ही मुसलसल ज़िंदगी..!! 💔
@supriya29586344 रात तन्हा, दर्द, आँसू, शायरी, हिज़्र है बेचारगी है बेबसी,

सर्द…

@supriya29586344 रात तन्हा, दर्द, आँसू, शायरी, हिज़्र है बेचारगी है बेबसी,

सर्द आहों से भरी बेचैनियाँ कट रही यूँ ही मुसलसल ज़िंदगी..!! 💔
#supriya29586344 #रत #तनह #दरद #आस #शयर #हजर #ह #बचरग #ह #बबससरद

Twitter shayarish by मैं शून्य हूँ °°°°°°°°°°°°°°

Leave a Reply