@pushpathak यादों के चिराग रहें रोशन उनकी महफ़िल में हरदम ये दुआ करते हैं लेंगे …

[ad_1]

@pushpathak यादों के चिराग रहें रोशन उनकी महफ़िल में हरदम ये दुआ करते हैं लेंगे कभी तो अपनी जुबां से वो उनका नाम वो सोचा करते हैं लग जाएं पंख और उनकी शायरी को मिले परवाज़ किसी भी उड़ते परिंदों संग आ सकता है उनका पैगाम ये राह देखा करते हैं
[ad_2]

Source by Virender Maharshi55

Leave a Reply