@Its__vaidehi संभाले नहीं संभलता है दिल, मोहब्बत की तपिश से न जला, इश्क तलबगार ह…

@Its__vaidehi संभाले नहीं संभलता है दिल,
मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना। #कलम #शायरांश #शायरी
@Its__vaidehi संभाले नहीं संभलता है दिल,
मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार ह…

@Its__vaidehi संभाले नहीं संभलता है दिल,
मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना। #कलम #शायरांश #शायरी
#Itsvaidehi #सभल #नह #सभलत #ह #दलमहबबत #क #तपश #स #न #जलइशक #तलबगर #ह

Twitter shayarish by साहेब

Leave a Reply