@BhawanaWrites दर्द इतने है कि अलफाज नहीं मिलते मेरे दर्द को अब साज नहीं मिलते …

@BhawanaWrites दर्द इतने है कि
अलफाज नहीं मिलते
मेरे दर्द को अब
साज नहीं मिलते

ये मेरा दर्द है या
मेरी शायरी

वफा को मेरी
मजार नहीं मिलते

करदो दफऩ मेरे साथ
मेरी ख्वाईशे भी

हर बार काफिरों को
मुक्कदश रात नहीं मिलते

कर के मोहब्बत
हम तबाह ही हुये

मेरी बरबादियों में
तुफानो के निशां नही मिलते
@BhawanaWrites दर्द इतने है कि
अलफाज नहीं मिलते
मेरे दर्द को अब
साज नहीं मिलते

@BhawanaWrites दर्द इतने है कि
अलफाज नहीं मिलते
मेरे दर्द को अब
साज नहीं मिलते

ये मेरा दर्द है या
मेरी शायरी

वफा को मेरी
मजार नहीं मिलते

करदो दफऩ मेरे साथ
मेरी ख्वाईशे भी

हर बार काफिरों को
मुक्कदश रात नहीं मिलते

कर के मोहब्बत
हम तबाह ही हुये

मेरी बरबादियों में
तुफानो के निशां नही मिलते
#BhawanaWrites #दरद #इतन #ह #कअलफज #नह #मलतमर #दरद #क #अबसज #नह #मलत

Twitter shayarish by sheikh salauddin

Leave a Reply