@anju_ladli आज तक शायरी… मेरे होंठों ने पढ़ी है…! आज नज़्म पढ़ने… मेरी आं…

[ad_1]

@anju_ladli आज तक शायरी… मेरे होंठों ने पढ़ी है…!
आज नज़्म पढ़ने… मेरी आंखों का अश्क आया है…!!

और अगर मेरे आज… लफ़्ज़ लड़खड़ा जाये तो माफ़ करना…!
मुझे महफ़िल में सुनने… मेरा इश्क आया है…!!
[ad_2]

Source by Prabhakar Trivedi

Leave a Reply