You are currently viewing हर रूप में राधा है.. 
हर रूप में कृष्णा..
मिल जाएंग
जब चाहोगे
बस छोड़ कर देखो तृ…
-रूप-में-राधा-है-हर-रूप-में-कृष्णा-मिल

हर रूप में राधा है.. हर रूप में कृष्णा.. मिल जाएंग जब चाहोगे बस छोड़ कर देखो तृ…

[ad_1]

हर रूप में राधा है..
हर रूप में कृष्णा..
मिल जाएंग
जब चाहोगे
बस छोड़ कर देखो तृष्णा…..
जयजयश्रीराधे
.
.
.
.
#जयजयश्रीराधे #हिन्दीकविता #मनकीबात #एहसास #Gulzar #hindisahitya #शब्दकोश #safar #coronoyear2020 #lifelessons #शायरी #ज़िंदगी #अनुभव #oneliners #Hindiquotes/">quotes #besthindi https://t.co/oo454M06zP
[ad_2]

Source by Poet SonaliNirmit

Leave a Reply