शायरी संख्या – 01 मोहब्बत में जो दिल जलते हैं उनमें धुआं ना राख होती हैं सांस…

  • Post category:Best-Shayari

शायरी संख्या – 01
मोहब्बत में जो दिल जलते हैं उनमें धुआं ना राख होती हैं सांसे तो चलती हैं पर जिंदगी यूं हीं यूं हीं तमाम होती हैं ।
शायरी संख्या – 01
मोहब्बत में जो दिल जलते हैं उनमें धुआं ना राख होती हैं सांस…

शायरी संख्या – 01
मोहब्बत में जो दिल जलते हैं उनमें धुआं ना राख होती हैं सांसे तो चलती हैं पर जिंदगी यूं हीं यूं हीं तमाम होती हैं ।
#शयर #सखय #महबबत #म #ज #दल #जलत #ह #उनम #धआ #न #रख #हत #ह #सस

Twitter shayarish by Nilesh Kumar