You are currently viewing लिख रही हूँ तुम्हे कुछ यूँ 
#डायरी की तरह ,
एहसास_ए_इश्क़ की 
शायरी की तरह ,
तुम…
-रही-हूँ-तुम्हे-कुछ-यूँ-डायरी-की-तरह

लिख रही हूँ तुम्हे कुछ यूँ #डायरी की तरह , एहसास_ए_इश्क़ की शायरी की तरह , तुम…

लिख रही हूँ तुम्हे कुछ यूँ
#डायरी की तरह ,
एहसास_ए_इश्क़ की
शायरी की तरह ,
तुम रोज दिखो मैं रोज लिखूं ,
हर बार , बार बार तुमको ही पढूं
तुम चलो मैं चलूं ,
तुम ठहरो मैं ठहर जाऊं
ये एहसास-ए-इश्क़ का रिश्ता ,
मैं कुछ ऐसे निभाऊं ..।।

#नेहा …….✍🏻
#शायरांश
#जिद्दी ❤ https://t.co/3xAALPPeSs
लिख रही हूँ तुम्हे कुछ यूँ
#डायरी की तरह ,
एहसास_ए_इश्क़ की
शायरी की तरह ,
तुम…

लिख रही हूँ तुम्हे कुछ यूँ
#डायरी की तरह ,
एहसास_ए_इश्क़ की
शायरी की तरह ,
तुम रोज दिखो मैं रोज लिखूं ,
हर बार , बार बार तुमको ही पढूं
तुम चलो मैं चलूं ,
तुम ठहरो मैं ठहर जाऊं
ये एहसास-ए-इश्क़ का रिश्ता ,
मैं कुछ ऐसे निभाऊं ..।।

#नेहा …….✍🏻
#शायरांश
#जिद्दी ❤ https://t.co/3xAALPPeSs
#लख #रह #ह #तमह #कछ #य #डयर #क #तरह #एहससएइशक #क #शयर #क #तरह #तम

Twitter shayarish by नेहा सिंह निरवाल 🇮🇳 संगठित भारत 🇮🇳

Leave a Reply