रुह बेजान हो गई इस में फिर से जान डालना है। इस दिल को भी अब तेरे जैसा ही मुझे ढा…

[ad_1]

रुह बेजान हो गई इस में फिर से जान डालना है।
इस दिल को भी अब तेरे जैसा ही मुझे ढालना है।।
#सूर्या_शायरी
#बज़्म
#हिंदी_शब्द https://t.co/LNS07u6fxn
[ad_2]

Source by ☀️सूर्यप्रताप सिंह चौहान☀️

Leave a Reply