You are currently viewing रंग लगा के वो अपने घर चली गयीं,
उन्हें ख़बर नहीं मेरि आँखों को बेइंतहा अश्क़ दे …
-लगा-के-वो-अपने-घर-चली-गयीं-उन्हें-ख़बर

रंग लगा के वो अपने घर चली गयीं, उन्हें ख़बर नहीं मेरि आँखों को बेइंतहा अश्क़ दे …

[ad_1]

रंग लगा के वो अपने घर चली गयीं,
उन्हें ख़बर नहीं मेरि आँखों को बेइंतहा अश्क़ दे गयीं,
~विपुल तिवारी
#vipultiwaripoem
#Holi2021 🌈
#हिंदी_शब्द #शायरांश #शायरी
#बज़्म
(फ़ोटो साभार नेट) https://t.co/Hcrq4lWLKl
[ad_2]

Source by विकास तिवारी

Leave a Reply