You are currently viewing मोहब्बत वो नहीं जो पैसे के दम पर ताज महल बनवा दे ।
मोहब्ब्त तो वो है जो पैसे के …
मोहब्बत-वो-नहीं-जो-पैसे-के-दम-पर-ताज-महल

मोहब्बत वो नहीं जो पैसे के दम पर ताज महल बनवा दे । मोहब्ब्त तो वो है जो पैसे के …

मोहब्बत वो नहीं जो पैसे के दम पर ताज महल बनवा दे ।
मोहब्ब्त तो वो है जो पैसे के बिना पहाड़ काट कर हटा दे । ✍️
❤️(दसरथ मांझी )❤️
#brahmashmi20
#बज़्म #शायरी #संस्कार https://t.co/Ndr91TqGVK
मोहब्बत वो नहीं जो पैसे के दम पर ताज महल बनवा दे ।
मोहब्ब्त तो वो है जो पैसे के …

मोहब्बत वो नहीं जो पैसे के दम पर ताज महल बनवा दे ।
मोहब्ब्त तो वो है जो पैसे के बिना पहाड़ काट कर हटा दे । ✍️
❤️(दसरथ मांझी )❤️
#brahmashmi20
#बज़्म #शायरी #संस्कार https://t.co/Ndr91TqGVK
#महबबत #व #नह #ज #पस #क #दम #पर #तज #महल #बनव #द #महबबत #त #व #ह #ज #पस #क

Twitter shayarish by कवि रवि रंजन ✍️✍️

Leave a Reply