मोहब्बत में धोखा खाकर जब जब आशिक बिखरता है, कलम कागज़ से रिश्ता और शायरी का हुनर…

मोहब्बत में धोखा खाकर जब जब आशिक
बिखरता है,
कलम कागज़ से रिश्ता और शायरी का हुनर
निखरता है।
मोहब्बत में धोखा खाकर जब जब आशिक
बिखरता है,
कलम कागज़ से रिश्ता और शायरी का हुनर…

मोहब्बत में धोखा खाकर जब जब आशिक
बिखरता है,
कलम कागज़ से रिश्ता और शायरी का हुनर
निखरता है।
#महबबत #म #धख #खकर #जब #जब #आशकबखरत #हकलम #कगज #स #रशत #और #शयर #क #हनर

Twitter shayarish by AJAY SHARMA

Leave a Reply