मोहब्बत में आशिक़ मर गए उसको भी खफा कर गए वो जमीनें मेरे खिलाफ हुई है जिन पे मका…

मोहब्बत में आशिक़ मर गए
उसको भी खफा कर गए
वो जमीनें मेरे खिलाफ हुई है
जिन पे मकां हम कर गए
तेरे सिवा ना कोई ठिकाना
थक कर हम सीधे घर गए
हम अंधेरों में पले थे
हम जुगनू चांदनी से डर गए
#बज़्म
#शायरी
मोहब्बत में आशिक़ मर गए
उसको भी खफा कर गए
वो जमीनें मेरे खिलाफ हुई है
जिन पे मका…

मोहब्बत में आशिक़ मर गए
उसको भी खफा कर गए
वो जमीनें मेरे खिलाफ हुई है
जिन पे मकां हम कर गए
तेरे सिवा ना कोई ठिकाना
थक कर हम सीधे घर गए
हम अंधेरों में पले थे
हम जुगनू चांदनी से डर गए
#बज़्म
#शायरी
#महबबत #म #आशक #मर #गएउसक #भ #खफ #कर #गएव #जमन #मर #खलफ #हई #हजन #प #मक

Twitter shayarish by Praveen Singh

Leave a Reply