मोहब्बत *भ्रष्टाचार* की तरह कभी खत्म नहीं होती, बस *बाबुओं* का तबादला होता रहता …

  • Post category:Best-Shayari

मोहब्बत *भ्रष्टाचार* की तरह कभी खत्म नहीं होती,
बस *बाबुओं* का तबादला होता रहता है..!!
@Rekhta
#शायरी
#बज़्म
मोहब्बत *भ्रष्टाचार* की तरह कभी खत्म नहीं होती,
बस *बाबुओं* का तबादला होता रहता …

मोहब्बत *भ्रष्टाचार* की तरह कभी खत्म नहीं होती,
बस *बाबुओं* का तबादला होता रहता है..!!
@Rekhta
#शायरी
#बज़्म
#महबबत #भरषटचर #क #तरह #कभ #खतम #नह #हतबस #बबओ #क #तबदल #हत #रहत

Twitter shayarish by Mohd. Ayaz