मिल जाती तो मुक्कमल हो जाती अधूरी रही तो अमर हो गई वो मोहब्बत जिसे करना नहीं था …

मिल जाती तो मुक्कमल हो जाती
अधूरी रही तो अमर हो गई
वो मोहब्बत जिसे करना नहीं था हमें
देखो न किस कदर हो गई ।।
#बज़्म
#शायरी
#जिंदगी
#कविता
#हिन्दी
#खुदशायर
मिल जाती तो मुक्कमल हो जाती
अधूरी रही तो अमर हो गई
वो मोहब्बत जिसे करना नहीं था …

मिल जाती तो मुक्कमल हो जाती
अधूरी रही तो अमर हो गई
वो मोहब्बत जिसे करना नहीं था हमें
देखो न किस कदर हो गई ।।
#बज़्म
#शायरी
#जिंदगी
#कविता
#हिन्दी
#खुदशायर
#मल #जत #त #मककमल #ह #जतअधर #रह #त #अमर #ह #गईव #महबबत #जस #करन #नह #थ

Twitter shayarish by Shukla ji ( self written poems nd 2 liners)

Leave a Reply