You are currently viewing बुझती आग को जरा सी हवा दे दो ,
     लहू अब भी गर्म 
     बस थोड़ी मोहब्बत की दवा…
बुझती-आग-को-जरा-सी-हवा-दे-दो-लहू

बुझती आग को जरा सी हवा दे दो , लहू अब भी गर्म बस थोड़ी मोहब्बत की दवा…

▪️बुझती आग को जरा सी हवा दे दो ,
लहू अब भी गर्म
बस थोड़ी मोहब्बत की दवा दे दो…✍️✍️
~कवि रवि 🍁

#brahmashmi20
#बज़्म #शायरी #हिन्दी_शब्द https://t.co/S5Vr12AgY3

बुझती आग को जरा सी हवा दे दो ,
लहू अब भी गर्म
बस थोड़ी मोहब्बत की दवा…

▪️बुझती आग को जरा सी हवा दे दो ,
लहू अब भी गर्म
बस थोड़ी मोहब्बत की दवा दे दो…✍️✍️
~कवि रवि 🍁

#brahmashmi20
#बज़्म #शायरी #हिन्दी_शब्द https://t.co/S5Vr12AgY3

#बझत #आग #क #जर #स #हव #द #द #लह #अब #भ #गरम #बस #थड #महबबत #क #दव

Twitter shayarish by कवि रवि 🍁

Leave a Reply