You are currently viewing बिखरा सा वजूद,,, टूटे से ख्वाब,,, 

            ओर यह सुलगती सी तन्हाईयाॅ…..

…
बिखरा-सा-वजूद-टूटे-से-ख्वाब-ओर-यह-सुलगती-सी

बिखरा सा वजूद,,, टूटे से ख्वाब,,, ओर यह सुलगती सी तन्हाईयाॅ….. …

[ad_1]

बिखरा सा वजूद,,, टूटे से ख्वाब,,,

ओर यह सुलगती सी तन्हाईयाॅ…..

*

*

कितने हसीन से ** तोहफे ** दे जाते है ——– किसी से _____ अपनेपन _____ के यह धोके ….

#शायरांश
#शायरी
#जज्बात https://t.co/HzGzJqKyIO
[ad_2]

Source by माही..🥀🥀( पधारो म्हारे देश ) 🥀🥀

Leave a Reply