#बाबा_की_महफिल अनिश्चित काल के लिए बन्द की जा रही है किसके लिए लिखूं शायरी उसने …

#बाबा_की_महफिल अनिश्चित काल के लिए बन्द की जा रही है
किसके लिए लिखूं शायरी
उसने फाड़ दी पूरी डायरी
#बाबा_की_महफिल अनिश्चित काल के लिए बन्द की जा रही है
किसके लिए लिखूं शायरी
उसने …

#बाबा_की_महफिल अनिश्चित काल के लिए बन्द की जा रही है
किसके लिए लिखूं शायरी
उसने फाड़ दी पूरी डायरी
#बबकमहफल #अनशचत #कल #क #लए #बनद #क #ज #रह #हकसक #लए #लख #शयरउसन

Twitter shayarish by चंदन त्रिपाठी 12.

Leave a Reply