बर्षों से नदामत की खाक छानता रहा हूं में, चराग-ए-तमन्ना को जलाता रहा हूं में, रम…

बर्षों से नदामत की खाक छानता रहा हूं में,
चराग-ए-तमन्ना को जलाता रहा हूं में,
रम्ज़ दे गई वो पाक मोहब्बत,
जिसे बर्षों से तह दिल से सजाता रहा हूं मैं।।
रणजीत✍️
#शायरांश
#शायरी #बज़्म #कविता
#हिंदी_शब्द #rekhta @kavishala
बर्षों से नदामत की खाक छानता रहा हूं में,
चराग-ए-तमन्ना को जलाता रहा हूं में,
रम…

बर्षों से नदामत की खाक छानता रहा हूं में,
चराग-ए-तमन्ना को जलाता रहा हूं में,
रम्ज़ दे गई वो पाक मोहब्बत,
जिसे बर्षों से तह दिल से सजाता रहा हूं मैं।।
रणजीत✍️
#शायरांश
#शायरी #बज़्म #कविता
#हिंदी_शब्द #rekhta @kavishala
#बरष #स #नदमत #क #खक #छनत #रह #ह #मचरगएतमनन #क #जलत #रह #ह #मरम

Twitter shayarish by Ranjeet

Leave a Reply