You are currently viewing .

#बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे,

न #दोस्ती का मतलब पता था न मतलब की दोस्ती थी…
बचपन-के-वो-दिन-भी-क्या-खूब-थे-न-दोस्ती

. #बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे, न #दोस्ती का मतलब पता था न मतलब की दोस्ती थी…

.

#बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे,

न #दोस्ती का मतलब पता था न मतलब की दोस्ती थी!

Follow – @iamjeet

#हिंदी #हिंदी_शब्द #शायरी #शायर #बज़्म #शुभ_बुधवार #शुभ_संध्या #जिंदगी #शुभ_प्रभात #शब्द #वीणा #प्रार्थना #MondayMotivation #शुभ_प्रभात_वंदन #IndiaFightsCorona #jethalal https://t.co/RnketzLcBv
.

#बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे,

न #दोस्ती का मतलब पता था न मतलब की दोस्ती थी…

.

#बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे,

न #दोस्ती का मतलब पता था न मतलब की दोस्ती थी!

Follow – @iamjeet

#हिंदी #हिंदी_शब्द #शायरी #शायर #बज़्म #शुभ_बुधवार #शुभ_संध्या #जिंदगी #शुभ_प्रभात #शब्द #वीणा #प्रार्थना #MondayMotivation #शुभ_प्रभात_वंदन #IndiaFightsCorona #jethalal https://t.co/RnketzLcBv
#बचपन #क #व #दन #भ #कय #खब #थन #दसत #क #मतलब #पत #थ #न #मतलब #क #दसत #थ

Twitter shayarish by Jeetendra Kumar

Leave a Reply