फर्क बहुत है आपकी और मेरी शायरी की तालीम में… *ठाकुर साहेब* आपने उस्तादों से…

[ad_1]

फर्क बहुत है आपकी और मेरी शायरी की तालीम में…

*ठाकुर साहेब*

आपने उस्तादों से सीखा है, और मैंने हालातों से…❣
[ad_2]

Source by संगीता सिंह(Sangeeta Singh)

Leave a Reply