प्रेम….. इक आस है एक प्यास है एक सपना है उनसे मिलन का एक राह है एक चाह है एक…

[ad_1]

प्रेम…..

इक आस है
एक प्यास है
एक सपना है उनसे मिलन का

एक राह है
एक चाह है
एक वादा है जो कभी टूटे ना

एक रात है
एक बात है
एक साथ है जो कभी छूटे ना

एक लफ्ज़ है
एक ब़ज्म है
एक शायरी है उनके नाम की

एक कहानी है
एक कविता है
एक दास्तां है कलयुग के सीता-राम की💙🧡

#diggi_digs
[ad_2]

Source by दिग्गी 💛

Leave a Reply